सवागत है

आपका "आज का आगरा" ब्लॉग पर सवागत है यह ब्लॉग मेरे मम्मी-पापा को समर्पित!..."वन्दे मातरम्" .सवाई सिंह

समर्थक

आप का लोक प्रिय ब्लॉग आज का आगरा अब फेसबुक पर अभी लाइक करे .



Widget by:Manojjaiswal

अवलोकन हेतु यहाँ प्रतिदिन पधारे !!

LATEST:

विजेट आपके ब्लॉग पर

रविवार, जुलाई 31

उपन्यास सम्राट प्रेमचंदजी की 131वीं जयंती पर विशेष

आज का अनमोल वचन उपन्यास सम्राट प्रेमचंदजी की  131वीं जयंती पर विशेष

 
"नारी सब कुछ सह सकती है, दारुण से दारुण दुःख, बड़े से बड़ा संकट नहीं सह सकती तो अपनी उमंगो का कुचला जाना!"
                                                                   मुंशी प्रेमचंदजी
**********

"यदि झूठ बोलने से किसी कि जान बचाती है तो बह झूठ पाप नहीं पुण्य है!" 
                                               मुंशी प्रेमचंदजी
 **********

प्रेमचंदजी पर जारी डाक टिकट
 "निराशा में प्रतीक्षा अंधे की लाठी है!"
   मुंशी प्रेमचंदजी
   



**********

"नशे की हालत में क्रोध की भांति, ग्लानी का वेग भी सहज ही बढ़ जाता है!"
                                                                        मुंशी प्रेमचंदजी
 **********
 "संसार में सबसे बड़ा अधिकार सेवा और त्याग से 
प्राप्त होता है" 
                          मुंशी प्रेमचंदजी
 **********
 "अन्याय को मिटाओ लेकिन अपने आप को मिटाकर नहीं!" 
                    मुंशी प्रेमचंदजी
**********
 "उधार वह मेहमान है जो एक बार आने के बाद जाने का नाम नहीं लेता!"
                         मुंशी प्रेमचंदजी
 **********
"उपकार के लिए अगर कुछ जाल भी करना पड़े तो उससे 
आत्मा की हत्या नहीं होती!"
                                     मुंशी प्रेमचंदजी
  **********
"अपमान का दर कानून के दर से किसी तरह कम
क्रियाशील नहीं होता!"
                                  मुंशी प्रेमचंदजी

13 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत ही सुन्दर लिखा है!

    उत्तर देंहटाएं
  2. मुंशी प्रेमचंदजी जयंती पर बढ़िया प्रस्तुति ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. मुंशी प्रेमचंदजी जैसा साहित्यकार आज तक नहीं पैदा हुआ.

    उत्तर देंहटाएं
  4. प्रिय मित्र
    मेरी नए पोस्ट पर आपका स्वागत है.
    कृपया अपनी राय व आलोचना से अवश्य ही अवगत करावे!
    आपकी राय , आपके विचार अनमोल हैं इस पोस्ट लिए
    http://smshindi-smshindi.blogspot.com/2011/07/blog-post.html

    उत्तर देंहटाएं
  5. प्रिय सोनू,
    आपका बहुत बहुत शुक्रिया और आपने समय निकाला बहुत अच्छा लगा

    उत्तर देंहटाएं
  6. एक बहुत सार्थक प्रयास की अच्छी प्रस्तुत की है आपने...

    उत्तर देंहटाएं
  7. प्रिय सवाई हमेशा की तरह एक बहुत उत्कृष्ट प्रस्तुति...

    उत्तर देंहटाएं
  8. मेरे पोस्ट पर आने और टिप्पणी करने के लिए आपका आभार

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत रोचकता के साथ प्रस्तुत किया है
    आभार

    उत्तर देंहटाएं
  10. मुंशी प्रेमचंदजी जयंती पर बढ़िया प्रस्तुति ।

    उत्तर देंहटाएं
  11. आप सब का तहे दिल से शुक्रिया मेरे ब्लॉग पे आने के लिए और टिप्पणियां देने के लिए

    उत्तर देंहटाएं
  12. मुंशी प्रेमचंदजी जयंती पर बढ़िया प्रस्तुति ।

    उत्तर देंहटाएं
  13. Rajveer Singhji
    आपका तहे दिल से शुक्रिया मेरे ब्लॉग पे आने के लिए और टिप्पणियां देने के लिए!!

    उत्तर देंहटाएं

अपनी टिप्पणी

अपनी टिप्पणी के साथ चित्र भी भेजें
[im] चित्र भेजने के लिए कोड इस प्रकार लिखें [/im]
[ma] टिप्पणी को चलते हुए दिखाएं इस कोड से [/ma]
[co="red"] रंगीन टिप्पणी लिए कोड इस प्रकार लिखें [/co]
[si="5"] टिप्पणी बड़े फाँट साईज में करने के लिए कोड [/si]
[card="yellow"] टिप्पणी की बैकग्राउंड बदलने के लिए कोड [/card]

[hi="yellow"] टिप्पणी के कुछ हिस्से को हाईलाईट करने के लिए ये कोड [/hi]

आप उपरोक्त सभी प्रकार के उदाहरण देखने के लिए यहाँ पर कलिक करें |

लिखिए अपनी भाषा में

Subscribe(सदस्यता लें)

Recommend on Google