सवागत है

आपका "आज का आगरा" ब्लॉग पर सवागत है यह ब्लॉग मेरे मम्मी-पापा को समर्पित!..."वन्दे मातरम्" .सवाई सिंह

फ़ॉलोअर

आप का लोक प्रिय ब्लॉग आज का आगरा अब फेसबुक पर अभी लाइक करे .



मंगलवार, नवंबर 17

यूँ ही नहीं आती,मिठास रिश्तों में..

 आज का सुविचार

    🚩जब हम खुश होते हैं तो हम उस व्यक्ति के पास जाना चाहते हैं जिसे हम बहुत प्यार करते हैं .

       लेकिन जब हम दुखी होते हैं तो हम उस व्यक्ति की ओर  देखते हैं जो हमें बहुत प्यार करता है ।

 रिश्ता होने से रिश्ता नहीं बनता,

   रिश्ता निभाने से रिश्ता बनता है । 

वैसे यह सच है--

  यूँ ही नहीं आती,मिठास रिश्तों में..

 गुलकंद के लिये,फूलों को शहीद होना पडता है..!

शनिवार, अक्तूबर 17

‘नवरात्रि’ तप, साधना और शक्ति उपासना का प्रतीक है।

शक्ति की आराधना के पावन पर्व 'शारदीय नवरात्रि' की समस्त भक्तों को शुभकामनाएं।
माँ भगवती के आशीष से विश्व में सकारात्मक ऊर्जा और नवीन शक्ति का संचार हो। समता, बंधुत्व और समरसता की भावना का विकास हो, लोक कल्याण का पथ प्रशस्त हो।
 माँ भगवती सभी पर अपनी कृपा व आशीर्वाद बनाये रखें.... सुगना फाउण्डेशन परिवार 
जय माता दी!

Aaj ka Anmol Vichar

जितना मन से पवित्र रहोगे 
उतना ही भगवान् से करीब रहोगे,
क्यूंकि 
सदैव पवित्रता में ही भगवान का वास होता है !!
==== & ====

ईश्वर के मार्ग पर जब कोई एक कदम बढाता है तो,
ईश्वर उसे थामने के लिए सौ कदम आगे बढ़ते है !!

गुरुवार, अक्तूबर 15

अपनों का साथ मुझे ऐसे ही मिलता रहे.... सवाई

 जीवन में आपको रोकने टोकने वाला कोई है
 तो उसका एहसान मानिए
 क्योंकि जिन बागों में माली नहीं होते 
वह बाग जल्दी उजड़ जाते हैं ।
 मैं बहुत खुशनसीब हूं कि मुझे आज भी अपने बड़े भाई का भरपूर सहयोग मिलता है जो कि मेरे और आने-जाने और कार्य की सारी जानकारी मुझसे और रोज लेते हैं ।
चाहे वह मेरे पास रहे या कहीं बाहर हैं पर मेरी खैर खबर हमेशा लेते हैं दुआ करता हूं मेरे जैसे भाई हर किसी को दे भगवान क्योंकि माताजी के जाने के बाद भी मुझे उनकी कमी को महसूस होने नहीं देने का पूरा प्रयास कर रहे हैं 
उनका जैसा दिल शायद किसी में नहीं है उनके काम करने का तरीका बिल्कुल अलग है अपने लिए बेशक ना सोचे पर अपनों के लिए वह हमेशा सोचते रहते हैं जो उनको हम सभी से अलग पहचान देता है यह मैं नहीं सभी लोग कहते हैं उनके बारे में इतना ही नहीं उनके विरोधी भी यह बात मानते हैं।
साथ ही पापा जी व दोनों बहनों का और भाभियों का भी आप सभी का प्यार और आशीर्वाद मुझे हमेशा मिलता रहेगा यही मैं भगवान से दुआ करताा हूं।
आपका सवाई सिंह 

सोमवार, अक्तूबर 12

खुद के लिए भी जिओ मेरी जान ...

 हमें जीवन में हमें अपने लिए खुद की खुशी के लिए भी कुछ करते रहना चाहिए क्योंकि जब आप खुद खुश होंगे तभी तो आप दूसरों को खुश रख पाएंगे।

एक उदाहरण से समझते हैं जब तक कुआ खुद भरा हुआ नहीं होगा तो वह दूसरों की प्यास कैसे बुझाएगा इसीलिए जीवन में हमें खुद को खुशियों से भरे रहना चाहिए तभी तो हम दूसरों को खुशियां दे पाएंगे।


और 

चलते चलते आज का अनमोल विचार

खुशियाँ आये जिन्दगी में तो चख लेना मिठाई समजकर,

जब गम आये तो वो भी कभी खा लेना दवाई समजकर !!


अपनी टिप्पणी

अपनी टिप्पणी के साथ चित्र भी भेजें
[im] चित्र भेजने के लिए कोड इस प्रकार लिखें [/im]
[ma] टिप्पणी को चलते हुए दिखाएं इस कोड से [/ma]
[co="red"] रंगीन टिप्पणी लिए कोड इस प्रकार लिखें [/co]
[si="5"] टिप्पणी बड़े फाँट साईज में करने के लिए कोड [/si]
[card="yellow"] टिप्पणी की बैकग्राउंड बदलने के लिए कोड [/card]

[hi="yellow"] टिप्पणी के कुछ हिस्से को हाईलाईट करने के लिए ये कोड [/hi]

आप उपरोक्त सभी प्रकार के उदाहरण देखने के लिए यहाँ पर कलिक करें |

लिखिए अपनी भाषा में

Subscribe(सदस्यता लें)

Recommend on Google

सवाई सिंह को ब्लॉग श्री का खिताब मिला(उतराखंड से )