सवागत है

आपका "आज का आगरा" ब्लॉग पर सवागत है यह ब्लॉग मेरे मम्मी-पापा को समर्पित!..."वन्दे मातरम्" .सवाई सिंह

समर्थक

आप का लोक प्रिय ब्लॉग आज का आगरा अब फेसबुक पर अभी लाइक करे .



Widget by:Manojjaiswal

अवलोकन हेतु यहाँ प्रतिदिन पधारे !!

LATEST:

विजेट आपके ब्लॉग पर

शनिवार, अगस्त 13

आप सब ब्लॉगर भाई बहनों को रक्षाबंधन की बहुत बधाई!!

आज का अनमोल वचन 

"हम सभी ईश्वर से दया कि प्रार्थना करते हैं और वही प्रार्थना हमे दूसरों पर दया करना सिखाती है!"
  
   शेक्सपियर 
आप सब ब्लॉगर भाई बहनों को रक्षाबंधन की बहुत बधाई!!
आज का आगरा और एक्टिवे लाइफ के पाठकों को रक्षाबंधन की हार्दिक शुभकामनाएं 
सवाई सिंह राजपुरोहित
(सुगना फाऊंडेशन मेघलासिया जोधपुर)

10 टिप्‍पणियां:

  1. bahut sundar ukti .aapko bhi rakshabandhan parv ki hardik shubhkamnayen .aabhar

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुंदर भाई ....सभी को राखी की बधाई ..!

    उत्तर देंहटाएं
  3. आपको रक्षाबंधन की बहुत बधाई!!

    उत्तर देंहटाएं
  4. शेक्सपीयर के कथन में मानव प्रकृति का सबसे बड़ा रहस्य छिपा है. रक्षबंधन और स्वतंत्रता दिवस की बधाई.

    उत्तर देंहटाएं
  5. आपको रक्षाबंधन की बहुत बधाई!!

    उत्तर देंहटाएं
  6. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  7. हम सभी ईश्वर से दया कि प्रार्थना करते हैं और वही प्रार्थना हमे दूसरों पर दया करना सिखाती है!"


    Very Very Nice Post

    उत्तर देंहटाएं
  8. बेनामी8/19/2011 03:27:00 pm

    क्या दूं तुझे मां ? क्या दूं तुझे मेरी मां, तेरे इस जन्मदिवस पर? बिखरी जिंदगियां और सिसकियों में सुलगता भारत,गरीबों की पेट की आग के साए में दुनिया की बड़ी आर्थिक शक्ति के रूप में उभरता भारत, अपनी मर्यादा के उल्लंघन पर अट्टहास करता भारत। क्या दूं तुझे मेरी मां? सड़कों पर रेंगती जिंदगी को आलीशान गाडि़यों से निहारता भारत। कभी बचपन के बसंत के गोद से उठकर जीवन की भागमभाग में अपने अस्तित्व के लिए पिसता भारत। बस यही प्रण लेता हूं, तुझे वापस दूंगा मैं वो भारत जो कभी इतिहास के पृष्ठ पर गर्व से खड़ा था। वो भारत जिसने विश्व को अपने कदमों पर झुकाया था। वो भारत जहां अनेक वीर हंसते हुए सूली चढ़ते थे, वो भारत जहां गांधी ने अहिंसा का पाठ पढ़ा। वो भारत जहां मीरा का प्रेम था, वो भारत जहां सिर्फ शांति हो, वो भारत जहां जात-पात पर हिंसा ना हो। -निखिल

    उत्तर देंहटाएं
  9. बेनामी8/19/2011 03:29:00 pm

    अब समय आ गया है जबकि हम सभी अपनी बात एक आवाज में उठाएं ताकि एक प्रभावी भ्रष्टाचार विरोधी व्यवस्था को कायम किया जा सके। हमें नहीं भूलना चाहिए कि हममें से प्रत्येक की आवाज महत्वपूर्ण है।

    उत्तर देंहटाएं

अपनी टिप्पणी

अपनी टिप्पणी के साथ चित्र भी भेजें
[im] चित्र भेजने के लिए कोड इस प्रकार लिखें [/im]
[ma] टिप्पणी को चलते हुए दिखाएं इस कोड से [/ma]
[co="red"] रंगीन टिप्पणी लिए कोड इस प्रकार लिखें [/co]
[si="5"] टिप्पणी बड़े फाँट साईज में करने के लिए कोड [/si]
[card="yellow"] टिप्पणी की बैकग्राउंड बदलने के लिए कोड [/card]

[hi="yellow"] टिप्पणी के कुछ हिस्से को हाईलाईट करने के लिए ये कोड [/hi]

आप उपरोक्त सभी प्रकार के उदाहरण देखने के लिए यहाँ पर कलिक करें |

लिखिए अपनी भाषा में

Subscribe(सदस्यता लें)

Recommend on Google