सवागत है

आपका "आज का आगरा" ब्लॉग पर सवागत है यह ब्लॉग मेरे मम्मी-पापा को समर्पित!..."वन्दे मातरम्" .सवाई सिंह

समर्थक

आप का लोक प्रिय ब्लॉग आज का आगरा अब फेसबुक पर अभी लाइक करे .



Widget by:Manojjaiswal

अवलोकन हेतु यहाँ प्रतिदिन पधारे !!

LATEST:

विजेट आपके ब्लॉग पर

बुधवार, अक्तूबर 26

आप सभी को आज का आगरा परिवार की ओर से दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएँ...

जगमग दीप जले है सबके दिल खिले है देखो फिर से आई है दिवाली खुशियों के गीत लायी है दीवाली मन से दूर हुआ है अँधियारा सबको करीब कर गई ये नई नेवेली दीवाली

 !! शुभ दिवाली !!


दिवाली के दौरान युवा बच्चों के साथ दुर्घटनाओं से बचने के लिए, यहाँ कुछ सरल नियमों का पालन कर रहे है !
1. लाइसेंस प्राप्त दुकान से पटाखे खरीदें ! 2. एक बंद बॉक्स में आतिशबाजी रखें ! 3. दुकान के  आगे या प्रज्वलन के स्रोत से दूर पटाखे ! 4. सभी सुरक्षा आग काम करता है के साथ जारी किए सावधानियों का पालन करें ! 5. खेल के मैदानों, क्षेत्रों की तरह रिक्त स्थान खुला जाओ ! 6. पीछे खड़े रहो, जबकि पटाखे प्रकाश व्यवस्था ! क्या ना कर... 1. भीड़, भीड़भाड़ स्थानों, संकरी गलियों में या घर के अंदर पटाखे न जलाओ ! 2. एक वयस्क के बिना साथी पटाखे न जलाऐ ! 3. अपनी जेब में आतिशबाजी डाल या उन्हें फेंक मत करो 4. अपने हाथों पर हिम्मत प्रकाश व्यवस्था के पटाखों की द्वेष न दिखाएँ ! 5. एक वाहन के अंदर आतिशबाजी का प्रयोग न करें ! 6. बचें सिंथेटिक कपड़े पहने हुए पटाखे प्रकाश न जलाऐ !


धूम मचाओ, मौज मनाओ
 !! शुभ दिवाली !!
                   आप सभी को आज का आगरा  परिवार की ओर से दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएँ... 

दीपों के इस पावन पर्व पर आपको हार्दिक शुभकामनायें।
दीपावली का पर्व आपके और आपके परिवार के लिये मंगलमय हो!!
*********************
                           आप लोंगो से काफी दिनों तक दूर रहा, बड़ी याद आती थी आपकी सभी की
आपका सवाई सिंह

*********************
कोई चीज अच्छी या बुरी नहीं होती, विचार ही अच्छे बुरे बनाते हैं.  


शेक्सपियर

10 टिप्‍पणियां:

  1. हमारी और से आपको और आपके सम्पूर्ण परिवार को दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें....

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपको और आपके परिवार को दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें...

    उत्तर देंहटाएं
  3. सुन्दर प्रस्तुति…………दीप मोहब्बत का जलाओ तो कोई बात बने
    नफ़रतों को दिल से मिटाओ तो कोई बात बने
    हर चेहरे पर तबस्सुम खिलाओ तो कोई बात बने
    हर पेट मे अनाज पहुँचाओ तो कोई बात बने
    भ्रष्टाचार आतंक से आज़ाद कराओ तो कोई बात बने
    प्रेम सौहार्द भरा हिन्दुस्तान फिर से बनाओ तो कोई बात बने
    इस दीवाली प्रीत के दीप जलाओ तो कोई बात बने

    आपको और आपके परिवार को दीपोत्सव की हार्दिक शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  4. सुन्दर प्रस्तुति………
    आपको तथा आपके परिवार,मित्रगण तथा शुभचिंतकों को दीपावली की बहुत शुभकामनाएं ।

    उत्तर देंहटाएं
  5. प्रकाशोत्सव के इस मंगल अवसर पर आप सभी की मनोकामना पूर्ण हो, खुशियाँ आपके कदम चूमे, इसी मंगल कामना के साथ आप सभी को दिवाली की बहुत बहुत बधाइयाँ ऑर शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  6. आपको और आपके प्रियजनों को दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें….!

    संजय भास्कर
    आदत....मुस्कुराने की
    पर आपका स्वागत है
    http://sanjaybhaskar.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  7. पटाखा चलइबे न करें। सर दुखता है...धरती माँ को भी कष्ट होता है।
    शुभ दीपावली।

    उत्तर देंहटाएं
  8. दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएँ....

    उत्तर देंहटाएं
  9. बेनामी1/06/2012 10:15:00 am

    ऐसी वाणी बोलिए..
    .रहिमन पानी राखिये, बिन पानी सब सून।
    पानी गये न ऊबरे,, मोती, मानुष, चून ॥

    कबीरदास जी ने कहा है, ऐसी बानी बोलिए, मन का आपा खोय। औरन को शीतल करे,
    आपहु शीतल होय। वाणी से ही समस्त कार्य साधे जाते हैं व वाणी से ही बिगड़
    जाते हैं। मीठी वाणी जहां व्यक्ति को सम्मान का पात्र बनाती है, वहीं
    अप्रिय वाणी व्यक्ति को नीचा दिखाने पर विवश कर देती है। मेरे पास एक
    एसएमएस आया, जिसमें गाली की परिभाषा समझाई गई थी- ‘क्रोध के समय मुख से
    निकले अपशब्दों का समूह (जिनके उच्चारण के पश्चात् व्यक्ति के हृदय को
    शांति का अनुभव होता है) गाली कहलाती है।’ मुंह से निकली गाली या अपशब्द
    सामने वाले को कितना आहत करती यह तो नहीं पता, मगर हां, इससे हमारी जुबान
    जरूर गंदी होती है।
    अकसर लोग बातों-बातों में किसी को गाली दे देते ये बात हर इन्सान को ध्यान में रखना चाइये
    हैं, पर शायद ये नहीं सोचते कि जो अपशब्द हम सामने वाले व्यक्ति को कह
    हैं, उनको सुनकर सामने वाले व्यक्ति पर क्या गुजरती होगी। अगर सामने वाला
    व्यक्ति भी आप जैसे मानसिक स्तर का है, तो उस पर गाली का कोई फर्क नहीं
    पड़ेगा। संभव हो कि वह आपसे भी अच्छी क्वालिटी की गालियां देकर अपने हृदय
    को शांति दे दे। अगर कोई आपकी गाली का जवाब गाली से नहीं दे रहा है, तो
    इसका मतलब ये नहीं है कि उसे गाली नहीं आती। हो सकता है, वह आपका लिहाज
    करता हो या आदर। ऐसे में आपका भी फर्ज बनता है कि आप अपने सम्मान को बनाए
    रखें और एक सीमा तक ही किसी दूसरे को मानसिक रूप से प्रताड़ित करें। मीठी
    वाणी से न सिर्फ आप दूसरों को अपने वश में कर सकते हैं, बल्कि समाज से भी
    सम्मान पाएंगे

    उत्तर देंहटाएं

अपनी टिप्पणी

अपनी टिप्पणी के साथ चित्र भी भेजें
[im] चित्र भेजने के लिए कोड इस प्रकार लिखें [/im]
[ma] टिप्पणी को चलते हुए दिखाएं इस कोड से [/ma]
[co="red"] रंगीन टिप्पणी लिए कोड इस प्रकार लिखें [/co]
[si="5"] टिप्पणी बड़े फाँट साईज में करने के लिए कोड [/si]
[card="yellow"] टिप्पणी की बैकग्राउंड बदलने के लिए कोड [/card]

[hi="yellow"] टिप्पणी के कुछ हिस्से को हाईलाईट करने के लिए ये कोड [/hi]

आप उपरोक्त सभी प्रकार के उदाहरण देखने के लिए यहाँ पर कलिक करें |

लिखिए अपनी भाषा में

Subscribe(सदस्यता लें)

Recommend on Google